कवर्धा

कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे ने भोरमदेव में श्रद्धालुओं और पदयात्रा की तैयारियों के लिए भोरमदेव मंदिर परिसर और मेला स्थल का किया निरीक्षण कलेक्टर ने भोरमदेव मंदिर परिसर में अधिकारियों की ली बैठक, दिए निर्देश

कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे ने भोरमदेव में श्रद्धालुओं और पदयात्रा की तैयारियों के लिए भोरमदेव मंदिर परिसर और मेला स्थल का किया निरीक्षण

कलेक्टर ने भोरमदेव मंदिर परिसर में अधिकारियों की ली बैठक, दिए निर्देश 

कवर्धा, । छत्तीसगढ़ के प्रमुख पर्यटन स्थल एवं कबीरधाम जिले के ऐतिहासिक, पुरात्तव, पर्यटन, जन आस्था के केन्द्र भोरमदेव मंदिर में सावन महीने में आने वाले श्रद्धालु और पदयात्रा कावड़ियों के व्यवस्था की तैयारियां शुरू हो गई। कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे ने आज भोरमदेव मंदिर परिसर में अधिकारियों की बैठक लेकर यहां आने वाले श्रद्धालुओं और पदयात्रा की व्यवस्थाओं के लिए उन्हें दायित्व सौंपे है। हर साल सावन माह के प्रथम सोमवार को कवर्धा के बूढ़ा महादेव मंदिर से भोरमदेव मंदिर तक जनभागीदारी आयोजित होने वाले भोरमदेव पद यात्रा के संबंध में जल्द ही कलेक्टर द्वारा बैठक आयोजित की जाएगी।
कलेक्टर श्री महोबे ने कहा कि हर साल सावन महीने में अधिक संख्या में यहां श्रद्धालु पहुंचते है। इसके लिए सभी तैयारी पहले ही कर ली जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी व्यवस्था और सुरक्षा के बेहतर इंतजाम रहें। उन्होंने सभी अधिकारियों को जिम्मेदारी पूर्वक सौंपे गए दायित्व को समय सीमा में पूरा करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने अधिकारियों की बैठक के बाद भोरमदेव मंदिर परिसर सहित पदयात्रियों के रुकने के लिए भवन, मेला स्थल का निरीक्षण किया और आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश दिए।
कलेक्टर श्री महोबे ने बैठक में भोरमदेव मंदिर क्षेत्र परिसर की साफ-सफाई, कवर्धा-भोरमदेव मार्ग में विद्युत के खंभों में प्रकाश व्यवस्था, मंदिर परिसर में दर्शनार्थियों के लिए पेयजल के इंतजाम करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने भोरमदेव उद्यान की साफ-सफाई एवं बेहतर रख-रखाव करने भी कहा। इस दौरान भोरमदेव मंदिर परिसर में प्रकाश व बिजली के पुख्ता इंतजाम करने छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण निगम के कार्यपालन अभियंता को निर्देशित किया। मंदिर परिसर में दर्शनार्थियों की सुविधा के लिए बेरीकेटिंग करने पीडब्ल्यूडी के कार्यपालन अभियंता व मेला स्थल में व्यवस्थित तरीके से दुकान लगवाने संबंधित अधिकारी तथा भोरमदेव मार्ग में आवागमन व्यवस्था, यातायात नियंत्रण के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्री निर्भय साहू, संयुक्त कलेक्टर डॉ मोनिका कौडो, कवर्धा एसडीएम आशीष अनुपम टोप्पो, बोड़ला एसडीएम गीता रायस्त सहित विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी उपस्थित थे।
कलेक्टर श्री महोबे ने पदयात्रियों के लिए पंडाल एवं पेयजल, सुलभ शौचालयों की साफ-सफाई, पदयात्रा के दौरान अस्वस्थ्य होने की स्थिति आपात चिकित्सा व्यवस्था के तहत एंबुलेंस, डॉक्टर एवं जीवन रक्षक दवाईयों की व्यवस्था तथा फर्स्ट एड बॉक्स की व्यवस्था भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने दर्शनार्थियों के जलाभिषेक दर्शन के लिए मंदिर परिसर में एलईडी टीवी लगाने, पदयात्रियों के लौटने के लिए निःशुल्क बसों की व्यवस्था, फायर बिग्रेड सहित सभी आवश्यक तैयारियों के लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने मंदिर परिसर में विशेष साफ-सफाई, रंग रोगन एवं मंदिर की सजावट तथा मंदिर परिसर में पर्याप्त संख्या में डस्टबिन रखने के भी निर्देश दिए। कलेक्टर ने कांवरियों के विश्राम के लिए रास्ते में पड़ने वाले पंचायत भवन, सामुदायिक भवन, प्रतीक्षालय आदि सार्वजनिक स्थानों को आरक्षित रखते हुए वहां के शौचालय, बिजली, पेयजल व्यवस्था को दुरूस्त करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने भोरमदेव मंदिर के पास स्थित कांवरिया भवन सहित अन्य सार्वजनिक भवनों का निरीक्षण कर सभी आवश्यक व्यवस्थाएं पूर्ण करने के निर्देश दिए।

Related Articles

Back to top button