दुर्ग

 मंगलवार को अपहृत मौलिक को 17 घंटे में खोज निकाला दुर्ग पुलिस ने

भिलाई। मंगलवार की सुबह दिन दहाड़े अपहृत मौलिक साहू को पुलिस ने महज 17 घंटों में ही खोज निकाला। अपहरण के बाद हरकत में आई पुलिस ने अपहरणकर्ताओं को पकडऩे ऐसा जाल बिछाया जिसका दबाव झेल पाने में नाकाम अपहरणकर्ता मासूम को राजनांदगांव के सोमनी थाने के पासछोड़कर भाग गए। पुलिस पेट्रोलिंग की नजर बच्चे पर पड़ी और उसे सकुशल उच्च अधिकारियों के साथ परिजनों को सौंपा गया। आधीरात बाद 2 बजे मौलिक को लेकर स्वयं आईजी हिमांशु गुप्ता, एसपी प्रखर पांडेय व एएसपी रोहित झा उनके घर पहुंचे और बच्चे को परेशान परिजनों को सौंपा। पुलिस ने आरोपियों की पहचान कर ली है और उनकी गिरफ्तारी के लिए अगल अलग टीमों को रवाना किया गया है।
मामले में आज पुलिस कंट्रोल रूम सेक्टर-6 में आईजी हिमांशु गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि मंगलवार की सुबह वेन से स्कूल जा रहे आरा मिल व्यापारी चंद्रशेखर साहू के 4 साल के बेटे मौलिक साहू को नकाबपोश बाइक सवारों ने अगवा कर लिया था। सूचना मिलते ही पुलिस की टीमें चारों ओर फैल गई। मासूम से जुड़ा मामला होने के कारण बेहद संजीदगी से काम किया गया। पुलिस ने अपहरणकर्ताओं के लिए पुलिस की 25 टीमों को अलग अलग प्वाइंट पर लगाया था। सभी प्रमुख रास्तों पर नाकेबंदी कर बच्चे की तलाश शुरू हुई। सरहदी जिलों की पुलिस को भी अलर्ट किया गया पुलिस की चाकचौबंद व्यवस्था से घबराकर अपहरण कर्ता सोमनी थाने के पास मासूम मौलिक को छोड़कर भाग गए।
 सीसीटीवी ने निभाया अहम रोल
अपहरण की गुत्थी सुलझाने में सीसी टीवी कैमरे का रोल अहम रहा। पुलगांव चौक पर लगे सीसी टीवी कैमरों से आरोपियों का लोकेशन पता चला जिसमें वे राजनांदगांव की ओर जा रहे थे। इसके बाद आसपास के सभी सीसी टीवी कैमरों सहित टोल नाके के कैमरों को चेक किया गया। इससे पता चला कि आरोपी राजनांदगांव के सोमनी के आसपास ही हैं। आईजी हिमांशु गुप्ता ने इस सफलता के बाद लोगों से अपील की है कि वे अपने घरों सामने सीसी टीवी कैमरे जरूर लगवाएं। ताकि ऐसे मामलों में अपराधियों तक आसानी से पहुंच सके

 सीएम व गृहमंत्री ने दिए थे निर्देश
मासूम मौलिक के अपहरण के बाद इस मामले में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने गंभीरता दिखाते हुए पुलिस विभाग को कड़े निर्देश दिए थे। अपहरण के बाद रास्ते में पडऩे वाले सभी सीसी टीवी कैमरों की फुटेज खंगाली गई। लोकेशन व हुलिए के मुताबिक पुलिस को अलर्ट किया गया। पुलिस की घेराबंदी से घबराकर अपहरण कर्ता मासूम मौलिक को छोड़कर फरार हो गए। पुलिस को मिली कामयाबी पर स्वयं गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने पूरी टीम को बधाई दी है।
 परिवार से जुड़े हैं आरोपी!
सूत्रों के मुताबिक पुलिस आरोपियों के बेहद नजदीक है। बताया जा रहा है अपहरणकर्ता परिवार से जुड़े लोग ही हैं। किसी विवाद या लेनदेन के मामला इस अपहरण की कड़ी हो सकती है। मौलिक के पिता का कहना है कि मासूम कुछ कह नहीं पा रहा है। मासूम के हवाले से उसके पिता ने बताया कि अपहरणकर्ताओं ने उसे एक बिस्किट दिया था। चांटा मारने की बात कभी कहता है तो कभी नहीं। छोटा बच्चा हाने के कारण कुछ पता नहीं चल पा रहा है। पुलिस का कहना है कि आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद अपहरण की असली वजह का खुलासा होगा।

Related Articles

Check Also
Close
Back to top button