कवर्धादुर्ग

अधिक बारिश की वजह से छत से पानी टपकने वाले स्कूलों की छतों पर प्लास्टिक बिछाने का काम शुरू

अधिक बारिश की वजह से छत से पानी टपकने वाले स्कूलों की छतों पर प्लास्टिक बिछाने का काम शुरू

कलेक्टर ने तीन दिनों के भीतर सभी स्कूलों में प्लास्टिक बिछाकर विद्यार्थियों राहत पहुंचाने के निर्देश दिए

जिले के 89 स्कूलों की छतों का होगा पक्का मरम्मत, राशि जनपदों को जारी

कवर्धा,  जिले की ऐसे सभी स्कूलो में जहां अत्यधिक वर्षा की वहज से छतों से पानी टपक रहे है ऐसे सभी स्कूलों को चिन्हांकिन तक वैकल्पिक व्यवस्था के तहत छतों को प्लास्टिक से ढकने का काम शुरू कर दिया गया है। इस वैकल्पिक व्यवस्था से वहां के सभी छात्र-छात्राओं को राहत मिलेगी और इससे अध्यापन कार्य बाधित भी नहीं होंगे।
कलेक्टर श्री अवनीश कुमार शरण ने जिला शिक्षा अधिकारी को जनपद पंचायत सीईओ के माध्यम से पहले में चिन्हांकित मरम्मत योग्य सभी स्कूलों की छतों को तीन दिनों के भीतर ढकने और विद्यार्थियों को राहत पहुंचाने के दिए गए निर्देश पर अमल शुरू भी हो गया हैं। कलेक्टर श्री शरण ने बताया कि जिले में पिछले 24 घंटों से लगातार बारिश हो रही है। बारिश की मौसम को देखते हुए ऐसे सभी स्कूलों को जहां तेज बारिश की वजह से पानी टपक रहा है, ऐसे स्कूलों की छतों को वैकल्पिक व्यस्था के तहत प्लास्टिक से ढकने का काम करने के निर्देश दिए है। उन्होने यह भी बताया कि जिले के 89 विद्यालयों की छतों को पक्का मरम्मत कार्य करने के लिए संबंधित जनपद पंचायतों को कुल 39 लाख 34 हजार रूपए जिला पंचायत के माध्यम से राशि जारी कर दी गई है।
जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि जिले के 89 स्कूलों के छतों को मरम्मत कार्य के लिए चिन्हांकित किए गए हैं। बोड़ला जनपद पंचायत सीईओ ने बताया कि बोडला वनांचल क्षेत्र के 56 विद्यालयों के छतों को प्लास्टिक से ढकने का काम पूरा कर लिया गया है। इसके अलावा 31 आंगनबाड़ी, स्वास्थ्य केन्द्र तथा पंचायत भवन 17 को चिन्हांकित कर ऐसे भवनों को ढकने का काम संबंधित ग्राम पंचायतों के माध्यम से कराया जा रहा है। पंडरिया जनपद पंचायत सीईओ ने बताया कि जिन-जिन स्कूलों में भारी बारिश की वहज से छतों से पानी टपने की जानकारी मिल रही है, ऐसे स्कूलों की छतों को तत्काल प्लास्टिक से ढककर विद्यार्थियों को राहत पहुचाई जा रही है। उन्होने बाताया कि पंडरिया के सुदूर वंनांचल क्षेत्र के पोलमी की प्राथमिक स्कूल की छतों को तत्काल प्लास्टिक से ढक कर विद्यार्थियों को राहत पहंचाई गई। पोलमी की इस स्कूल में अध्यापन कार्य अब बाधित नहीं हो रही है। जनपद पंचायत सीईओ ने बताया कि बारिश का मौसम समाप्त होते ही चिन्हांकित 89 स्कूलों की छतों को पक्का मरम्त करने काम शुरू किया जाएगा।

Related Articles

Check Also
Close
Back to top button