कवर्धादुर्ग

मनीष जैन ने लोगो से बकेला ट्रस्ट को चन्दा ना देने की अपील के साथ कहा कि बकेला चिन्तामणी पार्श्वनाथ ट्रस्ट के द्वारा भगवान की आढ में बहुत से फर्जीवाड़े कार्य किये गये है, जिसमें भूमि के फर्जी नामांतरण के साथ – साथ जमीन के खसरा नम्बर के साथ भी छेड़छाड़ कराया गया है, जिसकी‌ शिकायत लोकायोग मे लंबित है, एक एक कर के बकेला ट्रस्ट के सभी गुनाहो से पर्दा उठना प्रारंभ हो चुका है।

*बकेला ट्रस्ट के द्वारा कराया गया जमीन का फर्जी नामान्तरण हुआ रद्द*

पंडरिया मुख्यालय से 25 कि.मी. दूर स्थित ग्राम – बकेला में जैन तीर्थ का निर्माण कार्य चल रहा है, जिसके अध्यक्ष अनोपचन्द बैद आत्मज कंवरलाल बैद व सचिव प्रकाशचन्द कोठारी आत्मज खुशालचन्द कोठारी के फर्जीवाड़ो से पर्दा उठ चुका है।

पंडरिया निवासी मनीष जैन के पिता स्व.गौतमचन्द जैन के द्वारा क्रय की गयी भूमि को तत्कालीन राजस्व अधिकारी के साथ सांठ – गांठ कर के अनोपचन्द बैद व प्रकाश‌चन्द कोठारी ने बिना किसी को विश्वास में लिये बकेला चिन्तामणी पार्श्वनाथ ट्रस्ट के नाम पर स्थानांतरित करवा कर उस पर कब्जा जमा लिया।

जबकी स्व. गौतमचन्द जैन ने वह भूमि बकेला चिन्तामणी पार्श्वनाथ ट्रस्ट गठन के एक वर्ष पूर्व‌ ही क्रय कर ली थी, व ट्रस्ट गठन के पश्चात प्रदर्शित राजपत्र में भी भूमि का कोई जिक्र नही था, परन्तु गौतमचन्द जैन के मृत्यु के पश्चात शासकीय नियमो को ताक में रखते हुये बकेला ट्रस्ट के ट्रस्टीयो ने स्व.गौतमचन्द जैन को ट्रस्ट का अध्यक्ष बताकर उनकी निजी भूमि को अपने सार्वजनिक ट्रस्ट के नाम पर स्थानांतरीत करवा ली इस फर्जी व गैरजिम्मेदाराना नामांतरण को संज्ञान में लेते हुये कमिशनर दुर्ग ने रद्द कर दिया है, और इस पूरे मामले की जांच के आदेश दिये है।

मनीष जैन ने लोगो से बकेला ट्रस्ट को चन्दा ना देने की अपील के साथ कहा कि बकेला चिन्तामणी पार्श्वनाथ ट्रस्ट के द्वारा भगवान की आढ में बहुत से फर्जीवाड़े कार्य किये गये है, जिसमें भूमि के फर्जी नामांतरण के साथ – साथ जमीन के खसरा नम्बर के साथ भी छेड़छाड़ कराया गया है, जिसकी‌ शिकायत लोकायोग मे लंबित है, एक एक कर के बकेला ट्रस्ट के सभी गुनाहो से पर्दा उठना प्रारंभ हो चुका है।

Related Articles

1,270 Comments