कवर्धादुर्ग

सड़क दुर्घटना रोकने कबीरधाम जिले में 11 चौक-चौराहे दुर्घटनाजन्य घोषित सड़क दुर्घटना रोकने और अतिक्रमण मुक्त सड़क बनाने के फैसले लिए गए जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक सम्पन्न

सड़क दुर्घटना रोकने कबीरधाम जिले में 11 चौक-चौराहे दुर्घटनाजन्य घोषित

सड़क दुर्घटना रोकने और अतिक्रमण मुक्त सड़क बनाने के फैसले लिए गए

जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक सम्पन्न

कवर्धा, । कबीरधाम जिले में सड़क यातायात को सुव्यवस्थित करने के साथ-साथ राहगीरों को जीवन सुरक्षा प्रदान करने के लिए विशेष जोर दिया जा रहा है। जिले से होकर गुजरे वाली रायपुर, बिलासपुर, राजनांदगांव और मध्यप्रदेश के जबलपुर मार्गों सहित जिले के प्रमुख- प्रमुख कस्बों के चौक-चौराहों का अध्ययन करने के बाद जिले विभिन्न मार्गों के 11 प्रमुख स्थलों को दुर्घटनाजन्य क्षेत्र के रूप में चिन्हांकित कर दुर्घटनाजन्य घोषित किया गया है। कलेक्टर श्री अवनीश कुमार शरण की अध्यक्षता में आयोजित जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में इन सभी चौक-चौराहों पर सड़क दुर्घटना रोकने के लिए कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। बैठक में पुलिस अधीक्षक डॉ लाल उमेद सिंह, अपर कलेक्टर श्री जीवन किशोर ध्रुव सहित समिति के अन्य विभागों के अधिकारी विशेष रूप से उपस्थित थे।
कलेक्टर श्री शरण ने बैठक में शहर में यातायात सुगम बनाने के लिए पालिका क्षेत्र के अंतर्गत प्रमुख मार्गोंं पर जहां दूरसंचार विभाग, विद्युत विभाग सहित प्रचार-प्रसार के लिए लगाए गए होर्डिंग बोर्ड है, उनका उपयोग नहीं हो रहा है, तथा ऐसे खम्बों को आधार पर बना सडक पर दुकान-ठेले चलाए जा रहे है, जिससे यातायात प्रभावित हो रही है, ऐसे स्थानों को चिन्हांकित कर ऐसे खम्बों को हटाने की कार्यवाही सुनिश्चित करने के पालिका अधिकारी को निर्देश दिए। शहर के प्रमुख मार्गों में बनाए गए बस स्टॉपेजों के आसपास भी अतिक्रमण मुक्त करने के लिए अभियान चलाने के निर्देश दिए। बैठक में गुरूनानक चौक से रायपुर मार्ग

सहित तथा शहर के प्रमुख मार्केट लाईन पर यातायात सुगम बनाने के लिए चर्चा हुई। चर्चा में यह बात सामने आई की प्रमुख मार्गों पर स्थानीय व्यापारियों द्वारा सड़क पर दुकानें सजाई जा रही है, जिससे यातायात प्रभावित हो रही है। कलेक्टर ने ऐसे स्थलों को चिन्हाकिंत कर यातायात बेहतर बनाने और व्यापारियों को समझाने तथा इसके बाद अभियान चलाकर कार्यवाही करने के निर्देश दिए है। बैठक में राजमहल चौक से लेकर पुलिस अधीक्षक कार्यालय तक मार्ग को अधिक्रमण से मुक्त करने अभियान चलाने के लिए कहा गया। शहर के मिनीमाता चौक पर प्रकाश व्यवस्था बनाने के लिए पालिका अधिकारी को निर्देशित किया गया। इसके अलावा सकरी नदी की सकरी पुलिया पर सुरक्षा प्रदान करने वाले सूचना पटल तथा अन्य व्यवस्था बनाने के लिए कहा गया।
जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की

बैठक में पुलिस अधीक्षक डॉ लाल उमेद सिंह ने बताया कि जिले के विभिन्न मार्गों और चौक-चौराहों पर लगातार रहो रही सड़क दुर्घटनों का अध्ययन करने के बाद जिले के 11 प्रमख स्थालांं का दुर्घटनाजन्य घोषित किया गया है। चिन्हांकित स्थलों में नेशनल मार्ग के बीजाझोरी पुलिया से इंडस्ट्रीयल मार्ग तिहारा तक, कवर्धा के वीरस्तंभ चौक, मीनीमाता चौक से भोरमदेव तिराहा तक, पिपरिया चौकी दशंरगपुर से पंचायत भवन तक, धरमपुरा नवोदय स्कूल से हनुमान मंदिर तक, न्यू बाई पास मार्ग प्रभाटोला से पोडी तिहारा मार्ग, राजनांदगांव मार्ग के बिरोड़ा चौक, पंडरिया के विक्रम पेट्रोल से कुकदूर तिराहा मार्ग, कुण्डा-महली से सुरजपुराकला शामिल है। उन्होने बताया कि पिछले तीन साल के सडक दुर्घटना को विशेष ध्यान में रखते हुए इन स्थलों को चिन्हांकित किया गया है। उन्होने बताया कि जिले के सभी छोटे-बडे पुलि पुलिया के आसपास घास नुमा पौधें अधिक है, जिससे सुड़क दुर्घटना की स्थिति निर्मित होती है।
कलेक्टर श्री अवनीश कुमार शरण ने बैठक में लोक निर्माण, राष्ट्रीय राजमार्ग तथा अन्य सडक बनाने वाली शासकीय विभागों के अधिकारियों को निर्देश करते हुए कहा कि लोगों को सुरक्षित यातायात और सुरक्षा प्रदान करते हुए सड़क को अतिक्रमण से मुक्त रखने की जिम्मदारी संबंधित विभागों की है। इसलिए वे अपने सड़क को अतिक्रमण होने से बचाए। कलेक्टर ने संबंधित विभागों के अधिकारियों को चिन्हांकित दुर्घटनाजन्य स्थलों के आसपास दुर्घटनाजन्य क्षेत्र को प्रर्दशित करने वाली सूचना पटल लागने के निर्देश दिए। पुल-पुलिया के आसपास घासनुमा पौधों की छटाई करने के लिए संबंधित विभागों को निर्देशत किया गया।

Related Articles

Check Also
Close
Back to top button